MP E-Uparjan Portal 2024: अब घर बैठे किसान कर सकेंगे गेहूं का पंजीयन, देखे प्रक्रिया

MP E-Uparjan Portal 2024: अब घर बैठे किसान कर सकेंगे गेहूं का पंजीयन, देखे प्रक्रिया

MP E-Uparjan Portal 2024 : मध्य प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के किसानों के लिए गेहूं एवं चने की पंजीयन प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है। प्रदेश के किसान 5 फरवरी से 1 मार्च के बीच अपनी फसल का पंजीयन कर सकते हैं। इसके लिए सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार के पंजीयन केंद्रों की स्थापना की गई है। राज्य के किसानों को सुविधा देते हुए मध्य प्रदेश सरकार अब गेहूं एवं चने का पंजीयन घर बैठे ऑनलाइन करने की सुविधा भी प्रदान कर रही है। राज्य के सभी किसान अपने गेहूं का पंजीयन घर बैठे ऑनलाइन कर सकते हैं। जिसकी प्रक्रिया के बारे में आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से संपूर्ण जानकारी देने वाले हैं।अगर आप मध्य प्रदेश के किसान हैं और अपने गेहूं का पंजीयन करना चाहते हैं, तो आप कैसे घर बैठे अपने मोबाइल फोन के इस्तेमाल से गेहूं के पंजीयन को कर सकते हैं, इसकी संपूर्ण जानकारी स्टेप बाय स्टेप आज आपको इस आर्टिकल के माध्यम से प्रदान की जाएगी।

Mp e-uparjan portal 2024 –

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के किसानों से समर्थन मूल्य पर फसलों की खरीद हेतु एमपी उपार्जन पोर्टल की शुरुआत की गई है। इस पोर्टल के माध्यम से सरकार द्वारा किसानों का रजिस्ट्रेशन किया जाता है एवं रजिस्ट्रेशन के बाद किसानों से तय की गई तारीखों पर फसल की खरीद की जाती है। उपार्जन पोर्टल के माध्यम से किसानों को फसल का भुगतान भी किया जाता है। फसल भुगतान के लिए मध्य प्रदेश सरकार डीबीटी का इस्तेमाल करती है, इस प्रक्रिया के माध्यम से अपनी फसल का पैसा किसान आधार से लिंक बैंक खाते में प्राप्त कर सकते हैं। उपार्जन पोर्टल पर फसल बिक्री के बाद मध्य प्रदेश सरकार द्वारा 7 दिनों के अंदर किसानों को फसल का भुगतान किया जाता है।

MP e-uparjan portal पर गेहूं का पंजीयन कैसे करे ?

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा राज्य के किसानों के लिए उपार्जन पोर्टल पर गेहूं के पंजीयन प्रक्रिया की शुरुआत की जा चुकी है। अगर आप मध्य प्रदेश के किसान हैं और अपने गेहूं की फसल का पंजीयन करना चाहते हैं। तो इसके लिए सरकार द्वारा उपार्जन पोर्टल पर 5 फरवरी से 1 मार्च के बीच पंजीयन प्रक्रिया शुरू की गई है। सभी किसान इस तय की गई तारीखों के अंदर अपने फसल का पंजीयन कर सकते हैं। इसके लिए मध्य प्रदेश सरकार ने विभिन्न पंजीयन केंद्रों की स्थापना की है। राज्य सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्र में ग्राम पंचायत एवं शहरी क्षेत्र में लोक सेवा केंद्र पर समर्थन मूल्य पर गेहूं के पंजीयन करने की व्यवस्था प्रदान की है।इसके साथ ही सभी कॉमन सर्विस सेंटर एवं एमपी ऑनलाइन केंद्र पर जाकर भी किसान अपना पंजीयन कर सकते हैं। यहां आपको ₹50 का शुल्क भुगतान करना होगा।

समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी कब से शुरू होगी ?

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा हाल ही में राज्य के किसानों के लिए समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी हेतु पंजीयन प्रक्रिया की शुरुआत की गई है। राज्य के किस उपार्जन केंद्र पर अपने गेहूं की फसल को बेचने के लिए सरकार द्वारा एमपी उपार्जन पोर्टल पर किए जा रहे पंजीयन प्रक्रिया के अनुसार अपना पंजीकरण कर सकते हैं। इसके बाद मध्य प्रदेश सरकार 15 मार्च से राज्य में गेहूं की खरीद शुरू करेगी। सरकार द्वारा पंजीयन प्रक्रिया के लिए निश्चित की गई तारीख 5 फरवरी से 1 मार्च है इस तारीख तक राज्य के किसान अपना गेहूं का पंजीयन उपार्जन केंद्र पर कर सकते हैं। इसके बाद 15 मार्च से राज्य में गेहूं के खरीद शुरू की जाएगी। जिन किसानों को अपना गेहूं समर्थन मूल्य पर बेचना है, वह सभी मध्य प्रदेश सरकार द्वारा स्थापित किए गए उपार्जन केंद्र पर जाकर 15 मार्च से अपनी फसल की बिक्री कर सकते हैं।

Leave a comment