मध्य प्रदेश मे समर्थन मूल्य पर गेहूं ₹2700 प्रति क्विंटल बिकेगा?, गेहूं के पंजीयन की प्रक्रिया हुई शुरू, 1 मार्च अंतिम तिथि

मध्य प्रदेश मे समर्थन मूल्य पर गेहूं ₹2700 प्रति क्विंटल बिकेगा?, गेहूं के पंजीयन की प्रक्रिया हुई शुरू, 1 मार्च अंतिम तिथि

MP e uparjan 2024 : मध्य प्रदेश में समर्थन मूल्य पर गेहूं की पंजीयन प्रक्रिया शुरू की जा चुकी है, राज्य के किस 5 फरवरी से अपना पंजीयन करा सकते हैं। समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीद पंजीयन की प्रक्रिया मध्य प्रदेश सरकार ने 5 फरवरी सोमवार से शुरू कर दी है। प्रदेश के सभी किसान अपने नजदीकी पंजीयन केदो या फिर कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर गेहूं खरीदी हेतु पंजीयन करा सकते हैं।

भोपाल ( मध्य प्रदेश ) मध्य प्रदेश सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर गेहूं की पंजीयन प्रक्रिया 5 फरवरी से शुरू की जा चुकी है और राज्य के किस 1 मार्च तक पंजीयन प्रक्रिया में भाग ले सकते हैं और अपना पंजीयन कर सकते हैं सरकार द्वारा पंजीयन प्रक्रिया के लिए किसानों को सुविधा देते हुए विभिन्न पंजीयन केदो की स्थापना की गई है ग्राम पंचायत में भी पंजीयन केंद्र स्थापित किए गए हैं जहां से किसान अपना पंजीयन कर सकते हैं इसके अलावा किस साथी गेहूं के पंजीयन के लिए अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर और एमपी ऑनलाइन संचालक के पास भी जा सकते हैं यहां पर सरकार द्वारा प्रति पंजीयन ₹50 का शुल्क रखा गया है किस कॉमन सर्विस सेंटर या फिर एमपी ऑनलाइन के पास जाकर ₹50 के शुल्क भुगतान के साथ अपना पंजीयन कर सकते हैं पंचायत भीम की अंतिम तिथि सरकार द्वारा 1 मार्च से की गई है।

2700 रू प्रति क्विंटल बिकेगा किसानों का गेहूं

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा किसानों के लिए गेहूं के पंजीयन की प्रक्रिया 5 फरवरी से शुरू की जा चुकी है यह प्रक्रिया मध्य प्रदेश के किसानों के लिए सरकार द्वारा 1 मार्च तक चालू रहेगी यानी कि राज्य के किसान 5 फरवरी से 1 मार्च तक पंजीयन कर सकते हैं। इसके बाद राज्य सरकार 15 मार्च से प्रदेश में गेहूं की खरीद शुरू कर देगी। मध्य प्रदेश सरकार द्वारा जारी सूचना के अनुसार रवि विपणन वर्ष 2024 25 में समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी 2275 रुपए प्रति कुंतल के हिसाब से की जाएगी अगर मध्य प्रदेश सरकार इस राशि पर बोनस प्रक्रिया शुरू करती है तो किसानों का गेहूं ₹2700 प्रति क्विंटल तक बिक सकता है। इसके लिए राज्य सरकार को किसानों को प्रति क्विंटल 425 रुपए बोनस प्रदान करना होगा।

मध्य प्रदेश के किस समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचने के लिए 1 मार्च तक अपने पंजीयन कर सकते हैं इसके लिए राज्य सरकार द्वारा विभिन्न पंजीयन केंद्रों की स्थापना की गई है जहां पर किसान अपना पंजीयन कर सकते हैं। इसके अलावा किसानों के लिए मध्य प्रदेश सरकार द्वारा घर बैठे पंजीयन की व्यवस्था भी की गई है इसके लिए किसान अपने मोबाइल से एमपी किसान ऐप के जरिए भी गेहूं का पंजीयन कर सकते हैं या फिर अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर एवं एमपी ऑनलाइन संचालक के पास जाकर भी गेहूं के लिए पंजीयन कर सकते हैं। सरकार द्वारा ग्राम पंचायत स्तर पर एवं लोक सेवा कार्यालय जनपद कार्यालय में गेहूं पंजीयन के लिए पंजीयन केंद्र की स्थापना की गई है।

एमपी किसान ऐप और एमपी उपार्जन ऐप के माध्यम से किस घर बैठे भी अपने गेहूं का पंजीयन कर सकते हैं जिससे की पंजीयन केंद्र पर लंबी लाइनों में किसानों को परेशान नहीं होना पड़ेगा और घर बैठे आसानी से अपना पंजीयन कर सकेंगे।

पंजीयन केंद्रों पर निशुल्क होगा पंजीयन

सरकार द्वारा तय किए गए विभिन्न पंजीयन केदो पर अगर आप अपना गेहूं का पंजीयन करते हैं तो यहां आपको किसी भी प्रकार का शुल्क देने की आवश्यकता नहीं है मध्य प्रदेश सरकार ने ग्राम पंचायत एवं जनपद पंचायत लोक सेवा केंद्र पर किसानों की सुविधा के लिए शुरू किए गए पंजीयन केदो पर किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं रखा है किसानों को यहां किसी भी प्रकार का शुल्क चुकाने की आवश्यकता नहीं है किसानों के लिए गेहूं पंजीयन की व्यवस्था पूरी तरीके से निशुल्क रखी गई है। लेकिन वही कॉमन सर्विस सेंटर और एमपी ऑनलाइन संचालकों के पास जाकर आप अगर अपना पंजीयन करते हैं तो इसके लिए प्रति गेहूं पंजीयन किसानों को ₹50 का शुल्क देना होगा जिसे राज्य सरकार द्वारा निर्धारित किया गया है इससे अधिक किसी भी कॉमन सर्विस सेंटर और एमपी ऑनलाइन संचालकों द्वारा शुल्क लेना दंडनीय अपराध माना जाएगा।

आधार से लिंक खाते में आएगा पैसा

पंजीयन केदो पर गेहूं का पंजीयन करते समय किस द्वारा जी बैंक खाते का उपयोग पंजीयन करने के लिए किया जाता है मध्य प्रदेश सरकार इस बैंक खाते में पैसे को ट्रांसफर करती है लेकिन इसके लिए बैंक खाता आपके आधार कार्ड से जुदा होना जरूरी है सरकार द्वारा किसानों की फसल का भुगतान डीबीटी के माध्यम से किया जाता है डीबीटी यानी कि आपका बैंक खाता आपके आधार से लिंक होना चाहिए जिस आधार से बैंक खाता लिंक होगा इस बैंक खाते में आपका गेहूं की फसल का पैसा सरकार द्वारा ट्रांसफर किया जाएगा इसलिए सभी किसानों को अपने बैंक खाते को आधार से लिंक करवाना अनिवार्य है अन्यथा आपके खाते में गेहूं फसल की भुगतान के पैसे प्राप्त नहीं होंगे या फिर पैसे प्राप्त करने में आपको समस्या का सामना करना पड़ेगा।

पीएम किसान योजना के अंतर्गत किसानों को अब मिलेंगे ₹12000, देखे कृषि मंत्री ने क्या कहा

Leave a comment