Samarthan Mulya Kharidi: समर्थन मूल्य पर इस दिन से होगी गेहूं की खरीदी शुरू ₹2700 प्रति क्विंटल रहेगा भाव

Samarthan Mulya Kharidi: समर्थन मूल्य पर इस दिन से होगी गेहूं की खरीदी शुरू ₹2700 प्रति क्विंटल रहेगा भाव

लोकसभा चुनाव से पहले सरकार ने किया ऐलान मध्य प्रदेश में इस दिन से शुरू हो जाएगी समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी रवि विपणन वर्ष 2024-25 के लिए सरकार ने गेहूं खरीदी की तारीखों का अनाउंसमेंट कर दिया है। फिलहाल मध्य प्रदेश में गेहूं खरीदी हेतु उपार्जन केंद्र पर पंजीयन की प्रक्रिया चल रही है | राज्य के किसान 05 फरवरी से 01 मार्च तक गेहूं खरीदी हेतु उपार्जन केंद्र या फिर ऑनलाइन पंजीयन कर सकते हैं। पंजीयन उपरांत मध्य प्रदेश सरकार द्वारा सरकारी रेट पर समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी की जाएगी। पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष रवि विपणन 2024-25 में गेहूं की खरीद जल्दी की जा रही है।

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा इस वर्ष समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीदी 2,275 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से की जाएगी | वहीं अगर मध्य प्रदेश सरकार राज्य के किसानों को 425 रुपए प्रति क्विंटल बोनस प्रदान करती है तो किसानों को इस वर्ष गेहूं की फसल 2700 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से बेचने को मिलेगी।

इस तारीख से होगी गेहूं की खरीदी शुरू –

मध्य प्रदेश सरकार द्वारा रवि विपर्णन वर्ष 2024-25 के लिए समर्थन मूल्य पर गेहूं की खरीद 15 मार्च 2024 से शुरू कर दी जाएगी | राज्य के किस 01 मार्च तक अपना पंजीयन करा कर नजदीकी उपार्जन केंद्र पर 15 मार्च को अपने गेहूं की फसल ले जा सकते हैं। मध्य प्रदेश सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीद की तारीखों का ऐलान पंजीयन प्रक्रिया के लिए जारी किए गए दिशा निर्देश में ही बता दिया गया था | सरकार ने पहले ही साफ कर दिया था कि इस बार गेहूं के खरीद जल्दी की जाएगी समर्थन मूल्य पर राज्य के किसान 15 मार्च से उपार्जन केंद्र पर अपने गेहूं लेकर जा सकते हैं।

किसानों को पंजीयन में हो रही है समस्या –

जहां मध्य प्रदेश सरकार ने राज्य में गेहूं के पंजीयन के लिए तारीखों का ऐलान कर दिया है | 01 मार्च पंजीयन के लिए अंतिम तिथि घोषित की गई है वहीं राज्य के किसान अब तक अपना पंजीयन नहीं कर पा रहे हैं किसानों को पंजीयन केन्द्रों पर विभिन्न प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है कुछ गांव में पटवारी द्वारा अब तक गेहूं की फसल का गिरदावरी नहीं करने के कारण पंजीयन नहीं हो पा रहा है | वहीं कुछ जगह सर्वर दिक्कत आने के कारण भी किसान अपना पंजीयन नहीं कर पा रहे हैं। सरकार ने किसानों के लिए ऑनलाइन पंजीयन की सुविधा भी प्रदान की है | लेकिन कॉमन सर्विस सेंटर और एमपी ऑनलाइन संचालकों के पास भी अभी पंजीयन प्रक्रिया को शुरू नहीं किया गया है | ऐसे में राज्य के किसानों को पंजीयन को लेकर काफी ज्यादा समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

कॉमन सर्विस सेंटर और एमपी ऑनलाइन संचालक के पास भी नहीं हो पा रहे हैं पंजीयन –

मध्य प्रदेश सरकार ने पंजीयन प्रक्रिया के लिए जारी किए गए दिशा निर्देश में कहा था कि राज्य के किसान अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सेंटर और एमपी ऑनलाइन संचालक के पास जाकर पंजीयन कर सकते हैं लेकिन अब तक सरकार द्वारा इन केन्द्रों पर पंजीयन प्रक्रिया को शुरू नहीं किया गया है | सभी राज्य के कॉमन सर्विस सेंटर संचालक सरकार द्वारा आईडी शुरू नहीं करने से परेशान है राज्य के किसानों को बार-बार मना करने पर मजबूर हैं क्योंकि उनके पास अभी तक पंजीयन प्रक्रिया शुरू नहीं हो पाई है।

01 मार्च है पंजीयन करने की अंतिम तिथि –

पंजीयन केंद्रों पर पंजीयन करने के लिए 01 मार्च अंतिम तिथि घोषित की है लेकिन जिन किसानों का अब तक पंजीयन नहीं हो पा रहा है उन किसानों को इस तारीख से पहले पंजीयन करने के लिए बहुत ज्यादा कठिनाइयों का सामना करना पड़ेगा | क्योंकि ऑनलाइन पंजीयन सुविधा नहीं मिलने से किसान अब सिर्फ उपार्जन केंद्र पर जाकर लंबी लाइनों में लगकर ही अपना पंजीयन कर सकते हैं | 01 मार्च के बाद किसानों को 15 मार्च से उपार्जन केंद्र पर अपनी गेहूं की फसल लेकर जाना होगा।

Mahtari Vandan Yojana 2024 : ऐसे मिलेंगे महिलाओं को ₹12000, देखे पूरी जानकारी

Leave a comment